Affiliate Marketing क्या है और इससे पैसे कैसे कमाये 

Affiliate-Marketing-क्या-है

Online पैसा कमाना आज के समय में कितना साधारण हो गया है ,जिसे देखो वह online से पैसा कमाना चाहता है। ऐसे में Affiliate marketing की बात ना ए यह हो ही नहीं सकता। आखिर यह Affiliate Marketing क्या है (What is Affiliate Marketing in Hindi) ,इसे कैसे लोग पैसा कमाने का जरिया बना रहे हैं , आज हम इसके बारेमे बिस्तर से जानेंगे।

हर किसीका का एक सपना होता है की वह कुछ ऐसा करे जो की उसे पैसा कमा कर दे ,चाहे जब वह सोया हुआ क्यों ना हो। Affiliate Marketing एक ऐसा ही platform है जहाँ पर आपको कुछ करना नहीं पड़ता सब अपने अपने आप ही होता है।

यह एक ऐसा platform बन चूका है जिसे की हर एक YouTuber और Blogger अपना primary source बना चूक हैं Income का। पहले यह इतना मशहूर नहीं था ,जब से Amazon Inc जैसे company ने इसकी शुरुवात की इसे धीरे धीरे बाकि companies बी अपनाने लगे जिससे उनके sales में काफी growth हुई। इसी वजह से इसे service based companies जैसे Hosting companies भी अपनाने लगे।

हम आज इस बिषय पर इसके बारेमे सारी बातें जैसे की Affiliate marketing क्या है , यह कैसे काम करता है ,इससे कैसे पैसा कमाया जाता है के बारेमे चर्चा करने वाले हैं। मुझे उम्मीद है की इसे पढ़ने के बाद जिनको भी पहले से इसके बारेमे अच्छे से नहीं पता था उनको सारी जानकारी मिल जायेगा। तोह चलिए जल्दी से इस बिषय को आरम्भ करते हैं।

Affiliate Marketing क्या है (What is Affiliate Marketing in Hindi)

Affiliate marketing आखिर किसे कहते हैं,  Affiliate Marketing एक ऐसा प्रक्रिया है जहाँ एक Marketer किसी और company का product या फिर service को अपने Blog , YouTube या फिर किसी और platform पर promote कर sell को growth करने में मदद करता है ,और इसके लिए उसको Company के तरफ से कुछ commission मिलता है revenue की तौर पे। इसी Overall Process को Affiliate Marketing कहा जाता है।

इसे Start करना बहोत ही आसान होता है कोई भी digital marketer इसे start कर सकता है ,बस इसके लिए ज़रूरत पड़ता है एक अच्छा audience की। अगर आपके पास अच्छा audience मतलब की traffic नहीं आ रहा है तोह आपका Product खरीदेगा कौन ,और खरीददारी नहीं होगी तोह commission कैसे मिलेगा।

हर एक Company का अलग अलग scheme होता है commission देने का जो की differ करता है हर Product पर। किसी प्रोडक्ट पर ज्यादा मिलता है तोह किसी पर कम। लेकिन यह एक अच्छा source माना जाता है एक अच्छा earning करने केलिए बाकियोन के मुकाबले।

यह कैसे काम करता है (How does it work)

इसका काम करनेका तरीका बहोत simple सा है product बेचो और commission पाओ , इसीको अच्छे से जानने की कोशिश करते हैं।

जब किसी Company अपना affiliate program launch करता है उसका सिर्फ एक ही मकसद होता है की sales को बढ़ाना। और जो कोई इसमें उनकी मदद करेगा उनको कुछ पैसा दिया देना।

मान लीजिये अब एक Blogger उसी program को join करता है तोह उससे कुछ products के link दिए जायेंगे जिन्हे की उसको अपने platform पर promote करना है।

अब असली game शुरू होता है ,उस blogger के जो daily readers हैं जिनको की पहले से ही उसपर भरोसा है उस product को दिखेंगे तब उनको क्या लगेगा ? उनको लगेगा की यह एक product होगा इसीलिए इसने अपने blog पर लगाया है फिर वह लोग उसी link के ज़रिये सीधे उस company के website पर पहंचेंगे और उसे खरीदेंगे।

फिर company अपनी sales बढ़ता देख उस blogger को कुछ commission देगा।

और अच्छे से समझे तोह इस program में मुक्ष्य रूप में 3 लोग होते हैं।

  1. Advertiser
  2. Publisher
  3. Consumer

1. Advertiser उसे कहते हैं जो की उस program का मालिक यानिकि owner होता है। वह सीधे अपने manufacturer से product को लाकर अपने platform पर बेचना चाहता है और इसके लिए कुछ लोगों की मदद लेता है इसी affiliate program के ज़रिये। 

2. Publisher वह लोग होते हैं जो उस program को join करते हैं और फिर product को Promote करते हैं। 

3. Consumer सबसे आखरी हिस्सा होते है इस प्रक्रिया का ,इन्हीके ऊपर depend करता है की sales बढ़ेगी या नहीं। फिर जाकर Advertiser उस Publisher को commission देता है। 

Payment Process कैसा होता है

Payment depend करता है overall sales report के ऊपर। हर एक product का Commission rate अलग अलग होता है ,जैसे की home appliances के मुकाबले books पर ज्यादा पैसा मिलता है। इन् सबका एक monthly report बनाया जाता है जिसपर कितने sales हुए ,कितना Commission मिला यह सब लिखा हुआ होता है।

फिर publisher चाहे तोह उन revenue को अपने कहते में transfer कर सकता है। पैसा transfer करनेका बहोत से माध्यम होते हैं पर सबसे ज्यादा PayPal को recommend किया जाता है।

निचे मैंने ऐसे ही कुछ और माधयम का नाम बताया है , check this out

Affiliate Marketing से पैसे कैसे कमाये 

यह एक बहोत ही आसान तरीका है पैसा कमाने का। अगर आपके पास एक अच्छा traffic है अपने blog पर तोह आप इसे आसानी से अपना main source of income भी बना सकते हैं।

सबसे पहले research करना पड़ता है एक अच्छा affiliate प्रोग्राम का, क्यों की market में ऐसे बहोत सरे programs हैं जो की आपको commission देते हैं पर एक अच्छा program किसको नहीं चाहिए। Amazon , Flipkart , Snapdeal , Hostinger , SEMrush ऐसे बहोत सारे platform हैं जो की अच्छा commission देते हैं।

आपको ज्यादा कुछ करनेकी कोई ज़रूरत नहीं है , सबसे पहले आपको register करना पड़ेगा ऐसे program केलिए। फिर आपको कुछ Products के link दिए जायेंगे जिसे आपको copy करदेना है।

फिर उस link को अपने blog पर add करदेना है ,जब भी आपके blog में उस link को कोई visitor click करके कुछ purchase करता है तोह आपको commission मिलेगा।

 

How to choose a Perfect Phone ?

कुछ Popular affiliate programs

यहाँ पर निचे में ऐसे ही कुछ famous Affiliate program के बारेमे बताने जा रहा हूँ जो की बहोत अच्छा commission देते हैं। आप चाहे तोह इनमे से किसी पर भी register कर के एक अच्छा खासा earning कर सकते हैं।

  • Amazon Affiliate
  • flipkart Affiliate
  • Snapdeal Affiliate
  • SEMrush
  • GoDaddy
  • Hostinger

Affiliate Marketing से related कुछ terms

अगर आप affiliate marketing शुरू करना चाहते हैं तोह इनसे जुडी कुछ बातें आपको जानना बहोत ज़रूरी है। कुछ terms ऐसे है जो की आपको मदद करेगा इस programs को अच्छे से चलने में।

  • Affiliates – जैसे की मैंने ऊपर बताया की इसमें 3 लोग होते हैं Advertiser , Publisher और Consumer . Publisher को एक Affiliates भी कहा जाता है . 
  • Affiliate Marketplace – जो यह service provide करता है उसीको affiliate marketplace कहते हैं।  
  • Affiliate ID – आप एक affiliates बनने ने के बाद आपको एक unique ID दिया जाता है ,उसे affiliate ID कहते हैं।
  • Affiliate Link – product का link जिसे आप को अपने blog पर लगाना होता है।  
  • Commission – sales होने पर आप जो revenue मिलता है वह आपका कमीशन होता है।  
  • Link Clocking – हमे जो link दिया जाता है वह थोड़ा लम्बा होता है जो की ठीक से पढ़ा भी नहीं जा सकते ,उसको एक अच्छा look देने केलिए link को short किया जाता है उसको link Clocking कहते हैं।  
  • Payment Mode – आप अपने revenue को किस तरह withdraw करना चाहते हो ,वह आपका payment mode है।  
  • Payment threshold – revenue को आप कभी भी withdraw नहीं कर सकते उनका एक limit होता है। जब आपका revenue उस limit तक पहंच जायेगा आप उसे withdraw कर सकते हो

CONCLUSION

आशा करता हूँ की आपको मेरा यह लेख Affiliate Marketing क्या है (What is Affiliate Marketing in Hindi) पढ़कर इसके बारेमे सब कुछ पता चल गया होगा। अगर आप यह पढ़ने के बाद Affiliate marketing start करना चाहते हो तोह सबसे पहले अच्छे से research कर लीजिये सबसे अच्छा platform कौनसा है ,फिर आप उसमे register कीजिये। अगर आपके मन में कुछ और सवाल है जो आप पूछना चाहते हो तोह बेझिझक निचे comment करके पूछ सकते हो।

और एक आखरी गुज़ारिश यह है की जाते जाते इस article को अपने दोस्तों और रिश्तेदार के साथ share कर दीजिये और साथ ही इसे social media पर भी share करदिजिये ताकि यह ज्यादा से ज्यादा लोग तक पहंच पाए।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments