Http और Https क्या है और SSL क्या होता है ?

http-aur-https-kya-hai

जब जब आप internet मैं कुछ भी search करते हो कभी web address यानि url को देखे हो । वहां पर कुछ websites पर http और कुछ पर https लिखा हुआ होता है। आखिर यह http और https क्या है , क्या इसके लिए उन्हें कुछ पैसा देना पड़ता है , मैं आज यह लेख पर आपको इन दोनों के बीच अंतर बताऊंगा और कौनसा अच्छा है आपको decide करना होगा।

इसके साथ साथ मैं आपको एक और बिषय SSL certificate के बारे मैं भी बताऊंगा जो की इनसे related है। आखिर तक बने रहिये ताकि आपको सारे concept अच्छे से समझ मैं आ जाए।

Http क्या होता है (What is http in Hindi)

Http का मतलब होता है hypertext transfer protocol .आप जब किसी भी website को खोलते हो (Ex- http://factshop.net/) तब Url bar पर http लिखा हुआ देखे होंगे।

जब भी किसी query हम search engine को पूछते हैं वह एक special set of rules का पालन करते हुए हमे result देता है। इसी set of rules को protocol कहते हैं। 

यह result देने केलिए port 80 का इस्तेमाल करता है। इसी port के माध्यम से यह client को internet server से जोड़ता है।

यह सब प्रक्रिया आधारित होता है request-response principle पर। जान हम कुछ पूछते हैं तब हमारा http उसे server से connect करता है और request को accept करता है। उसके बाद server ही उसे हमतक response पहंचता है। client को server से जुड़ने केलिए http का use करना होता है इसके बिना यह सब मुमकिन नहीं है।

http-aur-https-kya-hai

आजकल search engine को कुछ इस तरह बनाया जाता है की यह automatic ही http को शामिल करदेता है।

Https क्या होता है (What is https in Hindi)

Https का मतलब होता है Hypertext transfer protocol secured। यह connection establish करने केलिए port 443 का इस्तेमाल करता है।

इसके अंदर client और server के अंदर जो data exchange होता है वह secured और encrypted होता है।

Https client की query को apache server तक पहंचने से पहले एक secured socket layer का इस्तेमाल कर्त है ,जिसे हम ssl कहते हैं। ssl data को encrypted form मैं server तक send करता है। जिसके वजह से कोई external उसे देख नहीं सकता ,इसे cryptography का है जाता है।

http aur https kya hai

Https का इस्तेमाल सबमे होता है अपने customers को एक secure service provide करने केलिए। इसका नहीं होना मतलब वह website secure नहीं कहलायेगा।

What is SSl certificate ?

SSL certificate का मतलब होता है secure socket layer। यह website को secure बनाने केलिए इस्तेमाल किया जाता है।

इसको हम TLS के नाम से भी जानते हैं जिसका फुल फॉर्म है Transport layer security।

SSL /TSL client-server transportation के बीच एक layer provide करता है जो की इसको secure बनाता है। यह डाटा को गुप्त रूप से exchange करवाता है।

इससे हमारा data सुरक्षित रहता है और प्रक्रिया को ज्यादा समय भी नहीं लगता।

SSL का उपयोग मुख्या रूप से e-commerce website पर किया जाता है क्यों की वहां पर खतरा रहता है Hacking और कुछ और तरह का data चोरी होने का।

Where to buy SSL ?

आप अगर की website या फिर एक नया Blog बनाना चाहते हो तोह हमेशा ध्यान रखिये की SSL का use करें। यह आपके blog को security provide करेगा और client के बीच एक trusted relation रखने मैं मदद करेगा।

अब सवाल आता है की हम SSL कहाँ से हरीदे। इसको खरीद ने केलोए बहोत सारे Websites हैं जहाँ आप इसे 500 से 1000 rupay मैं खरीद सकते हैं।

अगर आप कोई अच्छा platform से hosting ले रहे हो जैसे की Hostinger , GoDaddy आपको SSL certificate बिलकुल फ्री मई मिल जायेगा ,
और जो लोग इसे खरीद न चाहते हैं उनके लिए कुछ websites का नाम मैंने बताया एक बार देख लीजिये।

  1. Godaddy
  2. NameCheap
  3. GlobalSign
  4. The SSL Store
  5. SSls.com

Difference between Http and Https

बहोत सारे ऐसे ऐसे कारण हैं जो की इन दोनों को बहोत ही अलग बनाती है एक दूजे से। जैसे की ऊपर हमने पढ़ा की एक secure है और एक नहीं। चलिए इन सब कारण को जान्ते हैं।

HttpHttps
Http हमेशा port 80 का इस्तेमाल करता है।  Https हमेशा port 443 का इस्तेमाल करता है।
Http के अंदर जितने भी data exchange होते हैं सब unsecured होते हैं। Https के अंदर जितने भी data exchange होते हैं सब secured होने के साथ साथ encrypted भी होते हैं।
इसमें SSL का इस्तेमाल नहीं होता। Https हमेशा SSL/TSL का इस्तेमाल करता है security केलिए।
Http हमे freedom नहीं देता online transaction करने केलिए क्यों की इसे safe माना नहीं जाता। SSL के होने की वजह से यह secure माना जाता है और यह transaction security provide करता है।
Http के ऊपर based website को कभी भी google prefer नहीं करता SERP मैं ranking देने की। इसको Google हमेशा से prefer करता आया है। SSL हमे ranking मैं मदद करता है।
इसका यह ख़ास बात है के यह बहोत fast होता है दुसरो के मुकाबले। क्यूंकि इसमें direct data exchange होते हैं बिना कोई security layer के। एक extra layer होने के वजह से यह slow होता है but उससे उतना फरक नहीं पड़ता।
इसको हम किसीभी छोटा blog या फिर website केलिए इस्तेमाल कर सकते हैं। Https का इस्तेमाल बड़े बड़े e-commerce websites मैं होता है। और इसे आजकल blogs पर बी इस्तेमाल किया जा रहा है।

 

 

अब आपको पता चल गया होगा की कौनसा best है। इन किसको trust कर सकते हैं। आप कौनसा server इस्तेमाल करना पसंद करेंगे ?

CONCLUSION

आशा करता हूँ आपको मेरा यह लेख http aur https क्या है समझ मैं आया होगा। मैं यहाँ पर आप सबको जितना आसान हो सकते उतना आसान बनके समझने की कोशिश की है और ज्यादा technical वे मैं नहीं समझाया है। गर कुछ कमी रह गयी ही या फिर कुछ सवाल हो तोह आप comment करके पूछ सकते हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments