Home » Technology » PPI क्या है और कितना PPI अच्छा होता है

PPI क्या है और कितना PPI अच्छा होता है

ppi-kya-hai-hindi

जब आप किसी Phone लेते हो उसमे लिखा होता है इस फ़ोन का Display 480 PPI Density ऐसा कुछ लिखा हुआ होता है, यह क्या होता है। मैं आपको इस लेख में माध्यम से PPI क्या है और यह एक Display को कैसे अच्छा बनाता है बताने वाला हूँ।

एक Phone को Attractive बनाता है उसका Appearance और Display, अगर Display का Resolution काम है तो यह लोगों को उतना आकर्षित नहीं कर पाता। इसलिए चाहिए होता है एक अच्छा स्क्रीन जिसे देखते ही Phone में से Reality निकल के आ जाये।

एक अच्छा Pixel Density होना मतलब Display को उल्टा अच्छा माना जाता है, आप खुद इसे परख सकते हैं दो तीन Mobile को Compare करोगे। तो चलिए समझने में कोशिश करते हैं की Pixel Density क्या होता है और यह एक Display को इतना अच्छे होने में कैसे मददगार होता है।

PPI Density क्या है

कभी आपने अपने Mobile या फिर Computer का Display को नजदीकी से देखा है, Display बहुत सारे छोटे-छोटे Square Components से बने होते है उसको Pixel कहते हैं।

यह Display का Resolution और Color Adjustment में मददगार होते हैं। Display के Size के अनुसार Pixel होते हैं, Display के Per Square में जितना Pixels होते हैं उसी को ही PPI यानि कि Pixels Per Inch कहते हैं।

यह हमेशा नहीं की Pixels सिर्फ Square Shape का हो, कभी-कभी इसका आकर Dots के तरह भी होते हैं, उन्हें DPI यानि कि Dots Per Inch कहते हैं।

PPI कैसे काम करता है

एक Display में मौजूद है, एक Pixels छोटे छोटे ३ Sub-pixels से बने होते हैं, यह दरहसल Color Pigments होते हैं। Blue, Green और Red यह सब Normally जितने भी Color हैं इस दुनिया मैं सबको Generate कर सकते हैं और एक Display में एक अच्छा Quality का Picture दिखाना भी इनका कमाल है।

अब सवाल आता है की यह Pigments काम कैसे करते हैं, चलिए इसे समझते हैं।

Color Pigments आने वाले Colors को Filter करके सिर्फ जरूरी Pigments को Absorb करते हैं और बाकि को Block करते हैं यानि बाकियों को आने से रोकते हैं। इसी वजह से हमे एक अच्छा Colorful Picture देखने को मिलता है।

जरूर पढ़िए :

एक अच्छा Resolution के लिए कितना PPI अच्छा होता है

यह सच में एक मुश्किल सवाल है, इसका जवाब शायद ही किसी के पास हो। हम इतना तो जानते हैं की आजकल ज्यादातर कंपनी अपनी Devices में ज्यादा PPI का इस्तेमाल कर रहे हैं ताकि Picture Quality अच्छा आये और User को एक अच्छा अनुभव मिले।

अब यह भी सही है की किसी भी चीज का ज्यादा होना अच्छा नहीं होता सबका एक Limit होता है, जी हाँ इसका भी एक limit है।

मेरा मानना है की लगभग 570 PPI का होना ठीक है पर इससे ज्यादा हो जाये तो ज्यादा Color Pigments की वजह से Picture को देखना मुश्किल हो जायेगा।

Mobile और Computer के लिए कितना PPI अच्छा है

मान लीजिये आप कोई Phone या Computer खरीद रहे हैं और एक का Size बड़ा है और एक का छोटा पर PPI छोटे में ज्यादा और बड़े में कम। अब आप क्या करेंगे बड़ा Screen लेंगे या छोटा?

PPI में फर्क पड़ता है, जितना ज्यादा Pixels होंगे आप उतना साफ Picture पा सकेंगे और अगर डिस्प्ले साइज की तुलना में कम PPI है तो उसमे Picture का क्वालिटी खराब होने का डर रहता है। Pixels का Density हमेशा Screen Size के हिसाब से ही रहना चाहिए।

जब भी आप किसी Device ले तो या जरूर देखना की ज्यादा PPI हो और उसके साथ ही एक अच्छा Screen Size भी मिलता हो।

PPI से आपने क्या सीखा

आशा करता हूँ की आपको यह लेख PPI क्या है पसंद आया होगा, मैंने ऊपर कोशिश की है की आपको जितना आसान हो सके उतना आसान भाषा में समझने की।

वैसे तो इसे जानना इतना मुश्किल नहीं था क्यूंकि यह एक बहुत छोटा सा term था। फिर भी अगर आपको कुछ जानने में दिक्कत आयी हो तो आप नीचे comment में पूछ सकते हैं में जवाब देने की कशिश करूँगा।

और एक आखरी गुज़ारिश यह है की अगर आप किसी और को इसके बारे में बताना चाहते है तो यह लेख Social Media के द्वारा Share कर दिजिये।

2 thoughts on “PPI क्या है और कितना PPI अच्छा होता है”

  1. dada singh chouhan

    सर मेरे को लैपटॉप लेना हे जिसकी डिस्पल साइज़ 39 सेमी हे तो ppi कीटना होना तो अच्छा होगा

    1. अगर आपका लैपटॉप का resolution 1920×1080 से ज्यादा है तोह 250 से ज्यादा हो तोह बढ़िया है और इसके निचे है तोह 250 होने से भी कोई ज्यादा फरक नज़र नहीं ेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेेआएगा .

Leave a Comment

Your email address will not be published.