राम मंदिर से जुड़े रोचक तथ्य 2024 – Interesting Facts About Ram Mandir

इस पेज पर आप Ram Mandir Facts की जानकारी पढ़ने वाले हैं तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़िए।

पिछले पेज पर हम Science GK Facts in Hindi की जानकारी शेयर की हैं तो उस आर्टिकल को भी पढ़े।

चलिए आज हम Ram Mandir Facts की जानकारी पढ़ते और समझते हैं।

Ram Mandir

राम मंदिर से जुड़े रोचक तथ्य

1. राम मंदिर उत्तर प्रदेश के अयोध्या में स्थित है। 

2. राम मंदिर की आधारशिला 5 अगस्त 2020 को रखी गई थी। 

3. 22 जनवरी के दिन 84 सेकंड के शुभ मुहूर्त में भगवान श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा होगी। आज दोपहर 12 बजकर 29 मिनिट से 12 बजकर 30 मिनिट के बीच प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।

4. राम मंदिर में सुबह 6 : 30 बजे, दोपहर 12 : 00 बजे और शाम को 7 : 30 बजे रामलला की आरती की जाएगी।

5. राम मंदिर में एक दिन में तीन बार आरती होगी। सुबह, दोपहर और शाम के समय प्रभु श्री राम समेट सभी देवी देवताओं की आरती की जाएगी।

6. प्रभु श्री राम की पुरानी मूर्ति की नई मूर्ति के साथ गर्भ ग्रह में प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी।

7. राम नवमी के दिन प्रभु श्री राम का सूर्य तिलक किया जायेगा।

8. प्रभु श्री राम की मूर्ति का निर्माण कर्नाटक के प्रसिद्ध मूर्तिकार अरुण योगिराज द्वारा किया गया हैं।

9. राम मदिर के प्रवेश द्वार को पूर्व दिशा में बनाया गया हैं।

10. राम मंदिर को बनाने में स्टील या लोहे का उपयोग नहीं किया गया। यह पूरा मंदिर पत्थरों से बनाया गया हैं।

ram mandir facts in hindi

11. राम मंदिर के निर्माण में उपयोग की गई ईंटो पर श्री राम का नाम लिखा गया हैं।

12. राम मंदिर की लंबाई 680 फीट, ऊंचाई 161 फीट और चौड़ाई 250 फीट हैं। मंदिर में लगभग 392 खंभे और 44 दरवाजे हैं। यह तीन मंजिल का मंदिर हैं, जिसकी हर मंजिल 20 फीट ऊंची बनी हैं।

13. राम मंदिर के 2,000 फीट नीचे एक टाइम कैप्सूल रखा जाएगा। 

14. राम मंदिर की नींव बनाने के लिए 2587 क्षेत्रों की मिट्टी का इस्तेमाल हुआ है। 

15. मंदिर को सोमपुरा परिवार द्वारा डिजाइन किया गया है, जिनके पास 15 पीढ़ियों से अधिक समय से चली आ रही मंदिर वास्तुकला की विरासत है।

16. अयोध्या श्री राम मंदिर की मुख्य संरचना राजस्थान के भरतपुर जिले के शाही बंसी पहाड़पुर गुलाबी बलुआ पत्थर को दर्शाती है।

17. श्री राम मंदिर अयोध्या वास्तुकला की अनूठी नागर शैली को प्रदर्शित करता है।

18. अयोध्या में राम जन्मभूमि मंदिर में 13 स्वर्ण द्वार स्थापित किए गया है। 

19. राम मंदिर 107 एकड़ के क्षेत्र में बनाया गया है। 

20. राम मंदिर का निर्माण लार्सन एंड टुब्रो लिमिटेड कंपनी ने किया है। 

Interesting Facts About Ram Mandir

21. श्रीराम मंदिर के गर्भगृह की आसन शिला मकराना मार्बल (संगमरमर) से बनी है। 

22. अयोध्या के राम मंदिर में प्रवेश द्वार पूर्व दिशा की ओर है, सिंह द्वार से 32 सीढ़ियां चढ़कर प्रवेश होगा।

23. अयोध्या में बनने वाली सीता झील की लंबाई 4 किलोमीटर तथा चौड़ाई 500 मीटर है। 

24. 2020 में राम मंदिर भूमि पूजन हुआ था। 

25. मंदिर में कुल 44 द्वार का निर्माण किया गया है।

Ram Mandir Facts in Hindi

26. ट्रस्ट के अनुसार राम मंदिर की लंबाई (पूर्व से पश्चिम) करीब 380 फीट, चौड़ाई 250 फीट तथा ऊंचाई 161 फीट रहेगी।

27. अयोध्या के राम मंदिर में 5 मंडप होंगे। 

28. अयोध्या के राम मंदिर को परंपरागत नागर शैली में तैयार किया गया है। 

29. अयोध्या में रामलला का सिंहासन संगमरमर जिसमें सिंहासन पर सोना मढ़ा गया है से तैयार किया गया है।

30. मंदिर से कुछ दूरी पर जमीन में टाइम कैप्सूल दबाया जाएगा जिससे कि अगर सालों बाद मंदिर के बारे में कुछ जानकारी लेना हो तो ली जा सकती है।

facts about ram mandir in hindi

31. मंदिर को उन ईंटों से बनाया जाएगा जिनके ऊपर श्री राम नाम अंकित है। इन ईंटों के उपयोग के बीच, उनमें से कुछ 30 वर्षों से अधिक समय से उपयोग में नहीं आ रही हैं। इन पुरानी ईंटों का एक और नाम भी है, जिसे राम शिला कहा जाता है ।

32. मंदिर का निर्माण प्राचीन पद्धति से किया जाएगा इसलिए मंदिर में कहीं भी स्टील या लोहे का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।

33. सोमपुरा आर्किटेक्ट ने मंदिर का डिजाइन बनाया है सोमपुरा का यह परिवार हजारों सालों से मंदिर और भवन निर्माण में पारंगत है।

34. कर्नाटक की अंजनी नामक पहाड़ी जहां पर भगवान हनुमान का जन्म स्थान बताया गया है वहां से पत्थर लाकर मंदिर निर्माण में सहयोग किया जाएगा।

35. 2500 से अधिक स्थानों से मिट्टी एकत्रित करके मंदिर में लाई जाएगी।

36. देश के अलग-अलग नदियों का पानी भी इस्तेमाल किया जाएगा तथा कुछ स्वच्छ कुंडों का पानी इस्तेमाल किया जाएगा।

37. भारत से लोग मंदिर निर्माण में सहयोग करेंगे और पूरे भारत से सोने और चांदी की इंटें मंदिर निर्माण के लिए आई हैं।

38. पूरे मंदिर को वास्तु शास्त्र को ध्यान रखते हुए बनाया गया है।

39. भगवान राम के अलावा भी कई देवी-देवताओं की मूर्तियां मंदिर में स्थापित की जाएगी।

40. एक बार में सिर्फ मंदिर भवन में 10 हजार से अधिक श्रद्धालु समाहित होकर रामलला के दर्शन कर पाएंगे।

Ram Mandir Facts

41. राम मंदिर दो मंजिला बनेगा, जिसकी ऊंचाई 128 फीट, लंबाई 268 फीट और चौड़ाई 140 फीट है। मंदिर के भूतल पर, आसपास के डिजाइन में भगवान राम की कहानी, उनके जन्म और उनके बचपन को दर्शाया जाएगा।

42. राम मंदिर पूरी तरह से पत्थरों से बनाया जाएगा। मंदिर के निर्माण में स्टील या लोहे का उपयोग नहीं किया जाएगा। यहां तक ​​कि निर्माण परियोजना के पर्यवेक्षक अनु भाई सोमपुरा ने घोषणा की कि लोहे के बजाय तांबा, सफेद सीमेंट और लकड़ी जैसे अन्य तत्वों का उपयोग किया जाएगा।

43. भूकंप के लिहाज से उत्तर प्रदेश संवेदनशील जोन-4 में आता है। मगर अयोध्या समेत अवध का यह हिस्सा जोन थ्री में हैं। बाकी हिस्से की अपेक्षा खतरा यहां कुछ कम है। इसीलिए राम मंदिर को रिएक्टर स्केल मापन पर आठ से 10 तक का भूकंप सहने लायक बनाया जाएगा।

44. अयोध्या राम मंदिर के निर्माण के बारे में सबसे दिलचस्प तथ्यों में से एक नींव का लेआउट है, जिसे 2587 क्षेत्रों से आई पवित्र मिट्टी का उपयोग करके बनाया गया है। 

उदाहरण के लिए झाँसी, बिठूरी, यमुनोत्री, हल्दीघाटी, चित्तौड़गढ़, शिवाजी का किला, स्वर्ण मंदिर और कई अन्य पवित्र स्थान इसकी नींव में योगदान करते हैं।

45. राम मंदिर अपनी डिजाइन संरचना के अनुसार भारत का सबसे बड़ा मंदिर होने जा रहा है। मंदिर को डिजाइन करने वाले सोमपुरा परिवार ने यह भी चर्चा की थी कि यह डिजाइन 30 साल पहले चंद्रकांत सोमपुरा के बेटे आशीष सोमपुरा ने बनाया था। परिवार के अनुसार, 28,000 वर्ग फुट क्षेत्र के साथ मंदिर की ऊंचाई लगभग 161 फीट तक पहुंचती है।

46. 5 अगस्त को पवित्र समारोह में एक नींव लेआउट के साथ एक विशेष पवित्र जल था जिसमें पूरे भारत की 150 पवित्र नदियों का पवित्र जल था। 

इन नदी जल का संयोजन दो भाइयों, शब्द वैज्ञानिक महाकवि त्रिफला और राधे श्याम पांडे के परिवार से हुआ। इस पवित्र जल का संयोजन तीन समुद्रों, आठ नदियों और श्रीलंका की मिट्टी का मिश्रण है। 

इसके अतिरिक्त, मानसरोवर जल भी इस संयोजन का एक हिस्सा था। इसके साथ ही, पश्चिम जैंतिया हिल्स में 600 साल पुराने दुर्गा मंदिर का पानी, मिंतांग और मिंत्दु की नदी का पानी भी पवित्र जल मिश्रण का हिस्सा था।

47. पहली मंजिल पर, डिजाइन संरचना भगवान राम के दरबार को चित्रित करेगी। मंदिर की सबसे अनोखी विशेषताओं में से एक है निर्माण में बंसी पहाड़पुर, गुलाबी बलुआ पत्थर का उपयोग, जिसे राजस्थान के भरतपुर से एकत्र किया गया था। साथ ही, रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 360 खंभे विशेष रूप से नागर शैली के डिजाइन के साथ बनाए जाएंगे

इस बीच, 57 एकड़ भूमि में एक मंदिर परिसर शामिल होगा और 10 एकड़ भूमि मंदिर निर्माण के लिए होगी। शेष क्षेत्र में राम मंदिर के आसपास के चार छोटे मंदिर होंगे।

48. भगवान राम की पावन जन्मभूमि अयोध्या पवित्र सप्त पुरियों में से एक है। अयोध्या के अलावा मथुरा, माया (हरिद्वार), काशी, कांची, अवंतिका (उज्जयिनी) और द्वारका पवित्र सप्त पुरियों में शामिल हैं।

49. राम मंदिर ने अयोध्या में एक महत्वपूर्ण छाप छोड़ी है। एक ऐसी जगह जो अब उन लोगों पर एक महत्वपूर्ण छाप छोड़ेगी जो पहले इसके बारे में नहीं जानते थे। 

50. सूत्रों के मुताबिक, पूरे शहर का कायापलट किया जाएगा। नए विकास और अन्य परियोजनाओं से शुरुआत करते हुए पीएम मोदी 500 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं को लाने के लिए पूरी तरह तैयार हैं।

जरूर पढ़िए :

उम्मीद हैं आपको Ram Mandir Facts की जानकारी पसंद आयी होगी।

यदि आपको Ram Mandir Facts की यह जानकारी पसंद आयी होगी तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर कीजिए।

Leave a Comment