Cloud Storage क्या है और इसके क्या क्या फायदे हैं .

cloud-storage-kya-hai

क्या आप को पता है की Cloud storage क्या है (What is Cloud Storage in Hindi) और इसे सबसे ज्यादा secured और reliable storage क्यों कहा जाता है। जी हाँ यह एक ऐसा Storage facility है जिससे की बड़े से बड़ा data को store किया जाता है और कभी भी इसे access किया जा सकता है किसी भी परिस्तिति में।

आज के ज़माने में यह system storage की definition को ही बदल के रख दिया है। अब के समय में तोह हम memory cards ,hard drives वगेरा में data को store करदेते हैं ,लेकिन पहले ऐसा नहीं था ,छोटे से छोटे डाटा को भी save करने केलिए बहोत मुश्किल का सामना करता पड़ता था जैसे की Floppy disk बनाना और उससे भी बहोत कम data store किया जा पाता था।

लेकिन इन् सब के बाद भी ज़रूरत थी एक portable storage की जो की ज्यादा से ज्यादा Data store कर सके और कहीं से भी इसे access किया जा सके ,इसीलिए Cloud storage का इज़ात किया गया।

चलिए में आगे आपको इससे जुडी सारी जानकारी जैसे की Cloud storage क्या होता है ,इससे हमे क्या क्या फयदे मिलते हैं और इसके कितने प्रकार होते हैं यह सब को बताने वाला हूँ और आखिर तक बने रहिये जिससे की आप को सब समझ में आ जाये।

Cloud storage क्या है (What is Cloud Storage in Hindi)

cloud-storage-kya-hai

Cloud Storage को अगर आसान भाषा में समझा जाये तोह ,यह एक online storage facility है जहाँ की कोई भी free या फिर कुछ पैसे देकर अपन data को किसी service provider के देख रेख में store कर सकता है। इसका सबसे बड़ा फयदा यह है की यह portable होता है ,कोई इसे दुनिया के किसी कोने से भी बस internet connection के मदद से access कर सकता है।

memory cards , pen drives , hard disks के बारेमे तोह आप सब जानते जी होंगे ,यह सब portable तोह होते हैं पर safe नहीं होते। हमेशा खतरा बना रहता है की अगर खो जाये तोह सारा का सारा डाटा खो जायेगा। तब जबसे यह Cloud storage आया तबसे हर कोई इसको ही इस्तेमाल करना चाहता है। क्यों की यह portable है और large data storage capacity रखता है।

आप को करना यह होता है की किसी service provider को कुछ पैसे देकर अपना data दे देते हो जिसका की वह लोग बहोत सारी copy बनाकर अपने server में store रखते हैं। इससे फयदा यह होता है अगर कुछ error की वजह से आपका data lost भी हो गया तोह आप उसे वापस retrieve कर सकते हैं।

ऐसे कुछ platforms हैं जैसे की Google Drive , Drop box यह सब free में यह service देते हैं लेकिन इनका limit सिर्फ 15GB तक का ही होता है ज्यादा केलिए आपको पैसे की ज़रूरत पड़ती है।

छोटा user से लेकर बड़े बड़े enterprises तक इसका इस्तेमाल करना ज्यादा prefer करते हैं। चलिए जानते हैं की इसके कितने प्रकार होते हैं और वह एक दूसरे से कैसे अलग अलग होते हैं।

Cloud Storage का इतिहास क्या है (History of Cloud Storage in Hindi)

वैसे तोह इसका कोई confirmed inventor नहीं है पर resource के हिसाब से सं 1960 में Joseph carl Robnett licklider ने इसके बारेमे सोचा था की क्यों न ऐसा कुछ बनाया जाए जिससे की लोग Data को किसी भी जगह किसी भी समय access कर पाए।

फिर कुछ साल बाद 1983 में CompuServe ने पहला remote storage का service चालू किया जिससे की बहोत काम data को store किया जा सकता था
1994 में AT & T नाम की एक कंपनी ने launch किया personalLink service एक ऐसा online platform जो की personal या फिर entrepreneurs के लिए इस्तेमाल किया जा सके। फिर 2006 में Amazon ने launch किया AWS s3 जो की पहला successful cloud service मना जाता है।

फिर धीरे धीरे बहोत सारे cloud platforms आ गया जिनमे से Google Drive ,iCloud ,dropbox शामिल हैं।

Also Read

Cloud Storage के कितने प्रकार होते हैं (Types of Cloud Storage in Hindi)

Cloud storage को उसके इस्तेमाल के दृष्टि से 3 भाग में अलग अलग किया गया है।

  1. Public
  2. Private
  3. Hybrid

1. Public Cloud Storage

Public cloud क मतला होता है की यह एक ऐसा cloud storage है जिसे की personal as well as business purposes केलिए इस्तेमाल किया जाता है।
हम सबने Mobile storage जैसे की Google drive या फिर iCloud के बारेमे तोह जानते ही है यह सब Public cloud के अंदर आते हैं। इसको public कहने का ताप्तर्य यह है की इसका असली authorization तोह आपके पास होता है अगर आप चाहे तोह कोई और भी इसे access कर सकता है अपने device के ज़रिये।

इसके फायदे की बात करे तोह यह cost effective होता है और ज्यादा maintenance की ज़रूरत भी नहीं पड़ती।

2. Private Cloud Storage

बड़े बड़े organizations जैसे की Government agencies और enterprises इसका इस्तेमाल करते हैं अपने Data को स्टोर करने केलिए। Database ज्यादा crucial होनेके कारन यह Private cloud को prefer करते हैं।

इससे उनको ज्यादा security मिलती है और data चोरी का कोई खतरा नहीं रहता।

3. Hybrid Cloud Storage

Hybrid cloud storage का मतलब यह बना होता है दोनों public और Private cloud के संगम से। इसमें दोनों private और public storage का data exchange किया जा सकता है ,जिससे की इसकी flexibility बढ़ती है।

यह ज्यादातर private enterprises में इस्तेमाल होते हैं।

Cloud Storage कैसे काम करता है (How does a Cloud Storage Works)

Cloud storage को काम करने एक server की ज़रूरत पड़ती है जो की आपके data को internet से जुड़े रखे। एक बार data upload होनेके बाद फिर वह server दुनिया के अलग अलग servers के साथ आपके data को share करता है फॉर easy access।

cloud-storage-kya-hai

यह database हर एक local servers को share किया जाता है जिससे की user जब चाहे कहीं से भी access कर उसे remotely control कर सकता है। यह सब Data असली service provider के Data warehouse में stored रहता है। अगर data access करने में कोई परेशानी आये तोह उसे user easily फिर से retrieve कर पाता है।

Cloud Storage के फायदे क्या है (Advantages of Cloud Storage)

ऊपर इतना पढ़ने के बाद आपको इतना तोह पता चल गया होगा की यह एक secure और portable big remote storage है जिसे की internet के मदद से कहीं से भी access किया जा सकता है। इसके और भी बहोत सारे फायदे हैं जो की इसे इतना लोकप्रिय बनाता है। आईये इसके बारेमे चर्चा करते हैं।

  • जैसे की मैंने बताया की आप इसको free में इस्तेमाल कर सकते हैं कुछ हद्द तक। लेकिन ज्यादा storage केलिए चाहिए ज्यादा देख रेख जो की कोई third-party provider करता है ,इसके लिए आपको कुछ पैसे देना पड़ता है। पर database के तुलना में यह बहोत काम माना जायेगा इसीलिए यह ज्यादा cost effective माना जाता है।
  • दूसरा फयदा है इसकी usability। cloud storage को कोई भी बहोत आसानी से इस्तेमाल कर सकता है अपने mobile या फिर computer के मदद से। ऐसे बहोत platforms हैं जैसे की Drive,iCloud,Dropbox जहाँ कोई भी इसका लाभ उठा सकता है।
  • फिर आता है इसकी accessibility। मेरे हिसाब से यह ही सबसे बड़ा advantage है इस प्रकार के स्टोरेज का। आप दुनिया के कोई सा भी कोने में हो बस एक internet connection से इसे किसी भी device से access कर सकते हैं।
  • यह Storage system paid होने के वजह से इसे ज्यादा security के साथ रखा जाता है। बड़े बड़े data warehouses में इन्हे store किया जाता है जो की Fully secured होता है। सिर्फ authorized members को ही इसका access दिया जाता है।
  • Backup & Recovery एक ऐसा चीज़ होता है जो की बहोत ज़रूरी होता है हमेशा data को secure करने केलिए। Cloud storage आपके database का बहोत copy बनके अलग अलग servers में इसे store करके रखता है। अगर गलती से यह आपसे डिलीट हो जाये तोह इसे वापस आपके backup files के द्वारा recover किया जा सकता है।

CONCLUSION

उम्मीद है की आपको मैं Cloud Storage क्या है (What is Cloud Storage in Hindi) और इसके कितने प्रकार होते हैं समझाने में कामियाब रहा। मैंने ऊपर कोशिश की है की आपको ज्यादा technical way में ना लेकर सरल भाषा में समझों ताकि सबको अच्छे से समझ में आ जाये। फिर भी अगर आपको यह लेख पढ़ने के बाद कुछ सवाल हो तो आप निचे comment box में पूछ सकते हैं में जवाब देने की कोशिश करूँगा।

एक और आखरी गुज़ारिश यह है की अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों और रिस्तेदार के साथ ज़रूर share कीजिये राकी उनको की remote storage यानिकि Cloud storage के बारेमे पता चले।

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

Subscribe
Notify of
guest
2 Comments
Oldest
Newest Most Voted
Inline Feedbacks
View all comments
Kiran
Kiran
3 months ago

Useful information 🌺