डेटाबेस क्या है और डेटाबेस की प्रमुख विशेषताएं – What is Database in Hindi

database kya hai meaning hindi

क्या आपने कभी सोचा है की आप जो online sites पर accounts बनाकर अपना details save करते हैं वह कैसे हमेशा safe और save रहता है ? में बतादूँ की यह सब मुमकिन हो पाता हे Database की वजह से। आखिर यह database – डेटाबेस क्या है (Database meaning in Hindi ) और डेटाबेस की प्रमुख विशेषताएं क्या क्या हैं ?

Shortcut में बताऊँ तोह आप जितने भी data internet को देते हैं वह सब एक database में ही secure रहते हैं। यह basically एक store room है जहाँ सामन के नाम पे data यानिकि information रहता है।

कभी आपने सोचा है की हम नाजाने एक दिन में कितने data internet को देते हैं , एक सरकारी दफ्तर में कितने जानकारी internet के ज़रिये store किये जाते हैं , किसी school या फिर college में students के कितने details store किये जा रहे होंगे ,लेकिन यह सब ऐसा कौनसे जगह पर जा रहा है जो की हमेशा सुरक्षित भी रहता है और इतनी आसानी से इसे access भी किया जा सकता है।

डेटाबेस कईन तरह के हो सकते है जैसे की किसी का नाम ,पता , जन्म तारीख। , ब्याबाश्य आदि।

आपके मैं में जितने भी database को लेकर सवाल है सबका जवाब आपको इस article में मिलेंगे। डेटाबेस क्या है , डेटाबेस के मुक्ष्य elements क्या क्या हैं , यह डेटाबेस काम कैसे करता है , डेटाबेस की मूल बिशेषताएँ क्या हैं सबकुछ में इस article में बताने जा रहा हूँ तोह बने रहिये।

 

डेटाबेस क्या है [ Database meaning in Hindi ]

 

Database का सीधा साधा मतलब होता है बहोत सारे data का समूह जिन्हे की एक जगह systematically store किया जाता है ताकि इसे आसानी से access , modify और update किया जा सके। अथबा Organized systematic data के collection को एक database कहा जाता है।

डेटाबेस पर जाने से पहले जिनको नहीं पता की Data क्या होता है इसके बारेमे में थोड़ा बताना चाहूंगा की Data का सीधा मतलब होता है information मतलब हम अगर हमारा नाम लिख रहे हैं तोह यह एक personal details हो गया जिसे की एक data कहा जायेगा। वैसे ही किसी भी information अगर कहीं पर store किया जाता है तोह उसे data कहते हैं।

डेटाबेस क्या है -database visual representation

मेरा organized collection of data को डेटाबेस कहने का मतलब अभी थोड़ी देर में आपको पता चल जायेगा। एक school या college में जितने भी students पढ़ते हैं सबका information एक Excel file में tabulation बनाकर सजाकर रखा जाता है ताकि उन्हें जब चाहे तब आसानी से excess किया जा सके और data हमेशा safe रहे।

ठीक उसी तरह एक डेटाबेस में भी जितने भी data आते हैं सब एक प्रकार के table के sequence में रखा जाता है और इसी वजह से इन्हे हम कभी भी access , modify और update कर सकते हैं।

 

डेटाबेस के मुक्ष्य elements क्या क्या हैं [ Elements of a Database]

 

Database का काम क्या होता है आप सब तोह जान गए होंगे पर सोचिये ऐसा क्या क्या एक डेटाबेस में होता है जिसके कारण यह इतने सरे डाटा को अपने अंदर स्टोर कर सकता है।

एक डेटाबेस बहोत से ऐसे elements को लेकर बनता है जो की यह operation को मुमकिन कर पाते हैं। चलिए इसके कुछ मूल elements को बिस्तर से जानते हैं।

एक database के अंदर बहोत से elements होते हैं। जैसे की

  • Tables
  • Fields and columns
  • Records and rows
  • Keys

1 . Tables : 

 

Database को easily access किया जा एके इसीलिए जितने भी data होते हैं सबको रखने केलिए table की ज़रूरत पड़ता है। यहाँ table का मतलब वह बैठने वाला नहीं बल्कि row column वाला टेबल से है।

ताकि जब कोई user अपने किसी particular data को access करना चाहे तोह उसे वह आसानी से उसी dedicated table की data को access करे दिया जा सके। Multiple tables बहोत से अलग अलग तरह के data को store करके रखते हैं।

Normally देखा जाये तोह एक database के अंदर जितने भी data होते हैं सबका ताल्लुक किसी न किसी table से ज़रूर होता है। कभी कभी अगर किसी table में data ज्यादा हो जाये तोह उसे किसी और similar table के डाटा के साथ जोड़ दिया जाता है।

 

2 . Fields and columns :

 

Basically एक column किसी data table का हिस्सा होता है जो की किसी data के type को सूचित करता है। एक table में जितने भी types के डाटा होते हैं सबके लिए separated columns होते हैं। हर एक column किसी एक तरह के data को दर्शाता है।

अगर हम किसी table को visualize करें तोह column table का vertical lines को कहते हैं जहाँ की हर एक row का data होता है।

 

3 . Rows : 

 

एक Row वह होता है जो की सभी columns के data को एक table में जोड़े रखता है। मान लीजिये जब हम किसी school के students का एक list बना रे हैं तोह वहां मान लीजिये अगर 10 class के बच्चे हैं तोह वहां 10 rows होंगे।

 

4 . Keys : 

 

एक database key का मकसद होता है किसी information को control करना। एक Key एक तरह से column value होता है किसी table का जिसे की किसी unique information को control करने केलिए set किया गया होता है।

Key सिर्फ 2 तरह के होते है एक होता है Primary key और दूसरा है Foreign key

Primary keys किसी दो तरह के columns का एक combination होता है जो की बहोत से rows के data को unique बनता है table के अंदर। इसका काम होता है किसी दो related tables के बीच relation बनाना।

Foreign keys का मतलब किसी दो तरह का column का combination होता है जो की directly किसी primary key को indicate करता है। इसका मूल काम है यह confirm करना की किसी parent category बनाने से पहले इसका child category बनाया गया है की नहीं।

 

 

डेटाबेस की मूल बिशेषताएँ क्या हैं

 

एक डटबसे क्या होता है यह तोह हमने जान लिया चलिए अब इस डटबसे की कुछ मूल बिशेषताए को जानते हैं। की यह कहाँ कहाँ इस्तेमाल होता है और यह क्यों ज़रूरी होता है।

  • डेटाबेस का सबसे बड़ा फायदा यह है की किसी काम जगह में भी ज्यादा डाटा को store किया जा सकता है।
  • किसी भी जानकारी को आसानी से access किया जा सकता है।
  • डेटाबेस के मदद से हम किसी भी पुराने डाटा को edit और नए data को insert और delete कर सकते हैं।
  • अलग अलग प्रकार डाटा को अलग अलग store किया जा सकता है।
  • एक ही databse को काईन सरे user access कर सकते हैं।
  • कोई भी बिना किसी authority के आपके data को access नहीं कर सकता इसीलिए यह किसी paper file से अधिक सुरक्षित होता है।
  • Redundancy मतलब किसी भी एक प्रकार data का duplication को कम करता है।
  • अगर कभी किसी गलती के वजह से वह data delete हो जाता है तोह हम उसे backup और recovery जैसे सुबिधाओं के वजह से वापस retrieve कर सकते हैं।

 

Database कहाँ कहाँ इस्तेमाल होता है 

 

Internet का मूल हिस्सा database होता है। डेटाबेस के बिना internet एक बंज़र ज़मीन की तरह है इस्तेमाल तोह कर सकते हैं लेकिन कुछ हासिल नहीं होगा।
चलिए आगे जानते हैं Database कहाँ कहाँ इस्तेमाल होता है।

Internet :  Internet पर हम जितने भी searches करते हैं और जो जवाब हमें मिलता है वह सब किसी न किसी Blog या फिर website से आता है। और उस website का information एक database में save होता है ,इसीलिए हम जब भी कुछ अपने web browser यानिकि search engine पर search करते हैं उसका जवाब हमे तुरंत मिल जाता है।

Online Streaming : Online जितने भी online streaming platform हैं जैसे की Netflix , Prime videos , Hulu , Alt Balaji यह सबके अलग अलग database होता है जहाँ सब videos या किसी films save रहते हैं। हम जितनी बार भी यह video देखते हैं वह उसी database से ही आता है हर बार अलग अलग database से नहीं आते।

Gaming : हम जब game खेलते हैं उसमे भी हमारा data लगता है जैसे की नाम , DOB अदि जिसके वजह से हम एक account बना पाते हैं , और जो game अगर आधे में हम बंद कर देते हैं और दोबारा खोलने पर वहीँ से ही शुरू होता है यह सब डेटाबेस की वजह से ही मुमकिन हो पता है।

Online shopping : General shopping features जैसे की Wishlist , cart सब database के वजह से store हो कर रहता है। हर एक account का अलग अलग database होता है जहाँ सिर्फ उसी particular account का ही data रह सकता है।

Banking : ज़रा सोचिये एक bank में कितने लोग अपना खता खोलते हैं और इतने लोगों का account को manage करना किसी साधारण बैंक कर्मचारी के बस की बात तोह नहीं है। इसीलिए यह सबके लिए database की ज़रूरत पड़ता है। ताकि कभी भी किसी का भी account को edit और manipulate किया जा सके।

Library management : एक Library क बारेमे सोचिये वहां कितने books होते हैं। हर एक books के different categories , different genre होते हैं वह सब को अगर physically set करा जाये तोह गड़बड़ी होने का chances होता है। यहाँ पर database उन categories , genres को इसके column और rows के मदद से categorize करता है ताकि इन्हे आसानी से ढूंढा जा सके।

Social media : भारत में जितने आधार कार्ड नहीं बने हैं उससे ज्यादा social media accounts बनाये जा चुके हैं। इतने सारे लोगों के information कहाँ store हैं , इन्हे ईंटे आसानी से कैसे access किया जा रहा है ? हर एक social media company के बड़े बड़े database center होते हैं जहाँ वह सब data store करते हैं।

 

 

DBMS  क्या होता है [ What is DBMS ]

 

Database कोई application या फिर कोई paper file document तोह नहीं है फिर भी हम इसे कैसे access कर सकते हैं। इसका simple सा जवाब है database को access करने केलिए ज़रूरत पड़ता है एक database management system की।

DBMS का full form होता है Database Management System। यह एक software समूह का package होता है जो की हमे मदद करता है database को edit , delete , restore और manipulate करने की।

उदाहरन के तौर पे मान लीजिये हम एक school का students के details लिख रहे हैं तोह जितने नए students हैं उनका नाम पहले लिख लिए और ऐसे में किसी का नाम का spelling mistake हो गया तोह हम DBMS के मदद से उसे edit कर सकते हैं। किसी पुराने students का नाम अगर उसमे गलती से add हो गया हो तोह उसे delete कर सकते हैं।

कुल मिला के कहा जाये तोह एक DBMS हमे किसी भी data को create ,maintain . define and control करने का access देता है।

Example of DBMS software : 

 

  • My sql
  • Oracle
  • SQL server
  • IBM
  • PostgreSQL
  • SimpleDB

 

CONCLUSION on Database क्या है

 

मुझे उम्मीद है की मैं आपको Database meaning in Hindi – डेटाबेस क्या है और इस database की मूल बिशेषताए क्या क्या हैं समझा सका। देखिये एक database क्या होता है , database एक organized data का collection होता है जिसे की systematically रखा गया होता है। अगर आपको database के बारेमे कुछ और जानकारी चाहिए तोह निचे comment करके ज़रूर बताये।

 

Spread the love
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments