Home » computer » Mouse क्या है इसके Parts, प्रकार और Mouse किस काम आता है

Mouse क्या है इसके Parts, प्रकार और Mouse किस काम आता है

Computer mouse kya hai

नमस्कार दोस्तों, क्या आप Mouse की जानकारी जानना चाहते हैं तो आप सही पेज पर आए हैं इस पेज पर हम Mouse की समस्त जानकारी पढ़ेंगे।

पिछले पेज पर हमने Computer की जानकारी शेयर कि हैं यदि आप कंप्यूटर की समस्त जानकारी जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को भी पढ़े। चलिए इस पेज पर Mouse की जानकारी को पढ़ते और समझते हैं।

Mouse क्या होता है

Mouse एक चयन यंत्र (Selecting device) है जो की कंप्यूटर में चीजों को इधर-उधर करने में तथा खोलने और बंद करने के काम आता है। इसको हम Pointer के नाम से भी जानते हैं।

Mouse

इसके माध्यम से User कंप्यूटर को Pointer के जरिये सूचित करता है की मुझे यह काम करना है और कंप्यूटर उसको समझ कर उसको अंजाम देता है। यह सब मुमकिन सिर्फ दो Buttons और एक Scrolling Wheel की मदद से पाता है। 

Mouse का इतिहास क्या हैं

माउस का जन्म 1963 में Douglas Engelbart ने किया था, वह एक American Company में काम करते थे जहाँ उन्होंने इसका Invention किया था। अब के माउस की तुलना में माउस का गठन उस टाइम बहुत ही सरल था। अब के माउस में Sensors लगाए हुए होते हैं पर वह सिर्फ एक Wheel के सहारे Motion Detect करता था।

Mouse

Mouse किस काम आता है

माउस के बारे में हम सभी बहुत अच्छी तरह जानते हैं और इसके कार्यों के बारे में भी चलिए इसकी विस्तृत जानकारी को पढ़ते हैं।

1. Pointing :- माउस की मदद से हम किसी file या फिर किसी और चीज के ऊपर Cursor को लेकर उसको Identify करते हैं।  

2. Hovering :- Hovering का मतलब होता है की जब हम Mouse Cursor को किसी फाइल के ऊपर लेकर थोड़ा रुकते हैं तो उस फाइल का Details हमारे सामने आ जाता है हमे अंदर चल कर इसका Properties देखना नहीं पड़ता।

3. Clicking :- Mouse Click का मतलब होता है की हम जब किसी File को चुनते हैं तब उसके Button के मदद से Right या फिर Left को दबाकर करते हैं। इसी को Clicking कहते हैं।

4. Selecting :- यह एक Important Feature होता है जिसकी मदद से हम एक साथ बहुत सारे Files जैसे की Images, Videos या फिर किसी Documents को Choose कर उसको Move, Delete या फिर किसी और काम में लाते हैं।

5. Drag and Drop :- यह Method हम जैसे Students के लिए भगवान का भेजा हुआ तोफा की तरह है। किसी भी Files को या फिर Paragraphs को एक जगह से दूसरी जगह लिया जाता है वह भी सिर्फ माउस से Left click करके और थोड़ा सा Move करने से।

Mouse के Parts

Mouse बहुत ही सरल तरह से बनाया गया है इसके जितने भी Parts हैं सिर्फ उसके अंदर लगे हुए Sensors को छोड़ कर हम उन सबको ऊपर से ही देख सकते हैं तो चलिए इस पर चर्चा करते हैं।

1. Left Button :- जिस बटन का Use सबसे ज्यादा होता है जिसके मदद से हम Clicking कर सकते हैं जब हम उसे होल्ड करते हैं तो वह ठीक हमारे हाथ के पहला Index Finger के सीधे आता है

2. Right Button :- Mouse के Right Side पर यह बटन होता है। इसकी मदद से हम किसी को क्लिक करने पर उसका एक Operational Menu Open हो जाता है।

3. Roller :- दोनों Buttons के बीच में यह Roller पाया जाता है। यह एक छोटे से Wheel की तरह दिखता है जिसका आधा हिस्सा बहार और आधा माउस के अंदर होता है। यह सिर्फ Page को Scroll करने के काम आता है।

4. Sensors :- Mouse का मुख्य Sensor जो होता है वह ठीक इसके नीच लगा हुआ होता है। जिसे हम इसको उल्टा करने पर बहुत अच्छी तरह से देख सकते हैं। Generally सभी Mouse के Sensors में एक Red bulb लगा हुआ होता है जो की इसको एक अच्छा look देता है।

Mouse कितने प्रकार के होते हैं

आज कल माउस की काम करने की क्षमता को देखकर Market में बहुत सारे Mouse आ गए हैं। इनमें से कुछ का जिक्र में नीचे करने जा रहा हूँ।

1. Wired Mouse

Wired Mouse सीधा आपके Desktop के साथ एक USB Cable के जरिये Connected रहता है। यह दूसरों के मुकाबले बहुत Fast काम करता है क्योंकि यह Directly Wire के जरिये कंप्यूटर पर Data Transfer करता है।

2. Wireless Mouse

Wireless Mouse, Radio Signal के Through डाटा भेजता है जो की Desktop/Laptop में लगे हुए Receiver की मदद से Fetch किया जाता है।

Mouse

यह ज्यादा Portable होता है पर इसमें कमी भी है। सबसे पहली कमी यह है की यह उतना Accurate नहीं होता और user कभी-कभी Interface का lag होना भी face करते है। दूसरी कमी यह है की इसको चलने के लिए Charge करना पड़ता है।

3. Bluetooth Mouse

यह भी Wireless Mouse की तरह कोई Wire से जुड़ा हुआ नहीं होता पर इसे Desktop के साथ जुड़ने में कोई Receiver की जरूरत नहीं पड़ती। यह Bluetooth के जरिये Computer से जुड़ा हुआ होता है।

4. Optical Mouse

सारे माउस एक तरह से Optical होते हैं। Optical Mouse, Infrared light की मदद से माउस के Movement को एक Electrical Current में Convert कर उसे कंप्यूटर को सूचित करता है। यह सब माउस के अंदर लगे CMOS Sensor की वजह से हो पाता है।

5. Laser Mouse

देखने में तो यह Optical Mouse की तरह ही दीखता है पर यह एक Invisible laser Ray का इस्तेमाल Motion को Capture करने में करता है। Optical के मुकाबले यह ज्यादा Accurate होते हैं क्यूंकि Laser सीधा बिना कुछ गड़बड़ी के Motion को Capture करने में माहिर है।

6. Gaming Mouse

Gaming Mouse नाम से पता चलता है की यह सिर्फ Gaming Purpose के लिए बनाया गया है कुछ ज्यादा functions और Buttons fit कराये जाये तो हर तरह का एक Gaming Mouse बन सकता है दूसरे माउस की तुलना में यह ज्यादा Fast और Accurate होता है। Market में जितने भी Mouse मौजूद हैं सबसे ज्यादा Expensive भी होता है।

सही Mouse कैसे चुने

माउस जितना अच्छा होगा उतना अच्छा User Experience होगा। वैसे तो सारे माउस एक जैसे होते हैं पर Market से माउस खरीदने से पहले कुछ Properties को ध्यान में रखना बहुत जरुरी होता है।

Market से एक अच्छा Mouse कैसे चुने में उसकी एक जानकारी नीचे देने जा रहा हूँ।

1. Shape and Size :- माउस का चयन करने का यह सबसे बड़ा Factor है। अगर आपको माउस को Hold करने में Comfortable ना लगे तो आप ज्यादा टाइम काम नहीं कर सकते। एक Perfect Mouse वह है जो आपके Palm के Size में पूरी तरह से अच्छे से fit हो जिससे user को hold करने में अच्छा grip मिले।

2. Speed :- आपने यदि माउस खरीदने में अच्छा पैसा खर्च किया हैं और माउस slow निकले तो सारे पैसे गए पानी में इसलिए में सलाह दूंगा की जब भी आप माउस खरीदने जाये तो उसको एक बार Try करके लाना जरुरी हैं।

मेरे हिसाब से Wireless Mouse के बदले अगर आप Wired Mouse लेते हैं तो आपके लिए अच्छा होगा। क्योंकि यह उसके मुकावले Fast और Accurate होता है।

3. Extra Buttons :- माउस जितना अच्छा होगा उतना अच्छा User Experience होगा वैसे तो सारे माउस एक जैसे होते हैं पर market से माउस खरीदने से पहले कुछ Properties को ध्यान में रखना बहुत जरुरी होता है।

जरूर पढ़िए :

उम्मीद हैं आपको Mouse की जानकारी पसंद आयी होगी। अगर आपके दिमाक में इस आर्टिकल से सम्बन्धित कुछ और सवाल हैं तो आप Comment Box में पूछ सकते हैं में जवाब देने की पूरी कोशिश करूँगा।

अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा और आप चाहते हैं की आपके दोस्त भी इस आर्टिकल को पढ़े तो उनके साथ भी इस आर्टिकल को शेयर कर दीजिये।

Leave a Comment

Your email address will not be published.