RAM क्या है RAM के प्रकार, विशेषताएँ और RAM का Future

आप जब भी Mobile खरीदने के लिए जाते हो सबसे पहले क्या देखते हो, जाहिर सी बात है हर कोई Ram ज्यादा जिसमें हो वही देखता है।

ऐसा क्यों? क्योंकि ज्यादा रैम होने से mobile अच्छे से चलता है और आप अपनी मन पसंद Game को अच्छे से खेल सकते हैं। पर आपको पता है की RAM क्या है क्यों यह मोबाइल के Performance को बढ़ा देता है।

पहले के मुकाबले आज के Devices ज्यादा रैम Carry करते हैं क्यूंकि इनको Latest Technology के साथ खुद को Compatible करना होता है नहीं तो lag का प्रॉब्लम आता है और Performance घट जाता है।

ज्यादा Ram होना आपके लिए और भी फायदेमंद साबित होता है। चलिए इसके बारे मे और अच्छे से समझने की कोशिश करते हैं आखिर यह RAM क्या होता है?

RAM क्या है

RAM का फुल फॉर्म Random Access memory होता है। क्योंकि जब भी CPU Memory को Work में लगाने के लिए खोजता है इसके वजह से Randomly Data को Pick कर सकता है इसलिए इसे Random Access Memory कहते हैं।

पर इससे पहले आपसे एक सवाल यह है की क्या आपको पता है की Computer Memory क्या है और इसके कितने प्रकार होते हैं चलिए इस पर कुछ रोशनी डाली जाये।

रैम जिसे Random Access Memory भी कहा जाता है। यह Computer का एक Permanent Memory नहीं होता बल्कि एक Temporary Memory होता है जो की सिर्फ Power Flow on होने के टाइम ही काम करता है इसके बाद डाटा को डिलीट कर देता है।

आप सब जब कोई काम करते हो जैसे की Games खेलना, Photos Edit करना ये सब Possible होने के लिए Device में एक Space की जरूरत पड़ती है जो की इसे Store करके रखे। यह सब Space मोबाइल को रैम से ही मिलती है। यह एक Volatile Memory होती है इसीलिए इसमें Data हमेशा के लिए Store हो कर नहीं रह पाती।

Memory क्या है

आप लोगो को लग रहा होगा की Computer में तो इतने बड़े बड़े Hard Disk होते हैं। 1TB 2TB का फिर इसे Memory की जरूरत क्यों पड़ती है।

जरा सोचिये अगर Computer के अंदर सिर्फ External Data भर दिया जाये full होने तक और जब हम उसे Access करना चाहे तो बार बार वह गायब होती रहे, इसे जब हम on रखे तब Data को याद करने के लिए तो याद्दाश चाहिए न इसीलिए Computer को Memory की जरूरत पड़ती है।

Memory के प्रकार

Computer की Memory दो तरह की होती हैं।

  • Primary Memory
  • Secondary Memory                                                                 

RAM कंप्यूटर का Primary Memory का हिस्सा है। जो की जब तक इसे Power मिल रही होती है Data को Save करके रखता है और Power बंद हो जाने पर Automatic Delete कर देता है।

RAM के कितने प्रकार है

RAM को इसके Performance के दृष्टि से 2 भागों में Divide किया गया है।

  • S-RAM
  • D-RAM

1. S-RAM

S-RAM का मतलब Static RAM होता है। जैसे नाम में ही Static हैं यह Memory एक जगह स्टोर होकर रह सकती है। इसके बार बार Store करने के लिए Computer को Refresh करना नहीं पड़ता।

आपने Cache Data का नाम सुना होगा। Cache Data को ही हम S-RAM कहते हैं। जब तक Power-Source मिलती रहती है यह चलता है नहीं तो इसका डाटा Delete हो जाता हैं।

2. D-RAM

Dynamic RAM को हम Short में D-RAM कहते हैं। Dynamic मतलब गतिशील। मतलब यह रैम एक जगह स्तिर नहीं रहता इसलिए इसे बार बार Data Store करने के लिए Refresh करना पड़ता है ।

आप जो रैम कंप्यूटर या फिर अपने मोबाइल में Use करते हो वह सब D-RAM है। यह S-RAM के मुकाबले थोड़ा Slow होता है।

यह Dynamic होने की वजह से CPU जब भी काम करने के लिए Memory को Search करता है। Randomly एक Memory को उठा लेता है और आगे Process करके Store करता है।

RAM की विशेषताएँ

  • रैम एक Volatile Memory होती है।
  • दूसरे Hardware की तुलना में यह थोड़ा Costly होता है।
  • इसकी काम करने की Capacity बहुत ज्यादा होती है।
  • यह बहुत तेज होता है।
  • कंप्यूटर का CPU काम करने के लिए इसी रैम का सहारा लेता है।

RAM का Future

RAM मतलब अच्छा Performance हैं। आज कल के समय में जितने भी Applications और Software आ रहे हैं सबका Smoothly रन होने के लिए Requirements ज्यादा रैम होता है। क्योंकि Device में जितना ज्यादा रैम होगा उतना ही Smooth वह Run हो पायेगा, बिल्कुल भी lag का Problem नहीं आएगा।

इसी वजह से आज कल मार्केट में रैम की अहमियत बढ़ गयी है। सभी Company इस कोशिश में लगी हुई है की एक ऐसी Memory बनाई जाये जो की पूरी तरह Dynamic हो जो की D-RAM की जगह ले सके।

अगर यह कभी Possible हो गया तो हम बहुत ही Fast Performance का लाभ उठा पाएंगे। रेम को इतना Importance दिया जाने लगा है की अब मार्केट में 2GB से लेकर 12GB तक के RAM Capacity वाले फोन भी आ गए हैं।

रैम के सम्बन्धित प्रश्न उत्तर

1. ROM क्या होता है?

ROM एक Non-Volatile Memory होता है जो की Memory को Permanently Store करके रखता है। यह Memory मुख्य रूप से Computer को Boot करने में और Essential Files को Store करने में मदद करता है।

2. EEP-ROM क्या होता है?

EEPROM का मतलब Electrically Erasable Programmable Read-only-memory होता है। यह भी एक non-volatile मेमोरी होता है जो की Computer के Circuit Boards को Store करता है।

3. DDR-RAM क्या है?

यह कंप्यूटर के एक Memory Cycle पर Double Data Crunches को Transfer करता है। इसका Full Form Double Data Rate Synchronous RAM होता हैं।

FAQ

 Q.1 राम का आविष्कार कब हुआ था?

Ans. 1968 में रॉबर्ट डेनार्ड द्वारा किया गया था।

Q.2 Ram की फुलफॉर्म क्या होता है?


Ans. Random Access Memory है, जो कि कंप्यूटर की प्राइमरी मेमोरी होती है।

Q.3 मोबाइल का रैम क्या होता है?


Ans. RAM फोन का वह पार्ट है जिसका इस्तेमाल ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) को स्टोर करने के लिए किया जाता है और जहां उपयोग किए जा रहे ऐप्स और डेटा को रखा जाता है। 

Q.4 रैम के 3 प्रकार क्या हैं?

Ans. स्टेटिक रैम (SRAM) डायनेमिक रैम (DRAM) सिंक्रोनस डायनेमिक रैम (SDRAM)

जरूर पढ़िए :

आशा करता हूँ की आपको मेरा यह लेख RAM क्या है पसंद आया होगा और आपको समझने में थोड़ा मददगार रहा होगा। माफ करना में आपको सारी बाते नहीं बता पाया क्योंकि कंप्यूटर एक बहुत ही बड़ा Subject है कोशिश करूंगा आपको सब बता पाऊ। इसलिए हमारे साथ बने रहिये आपको में ऐसी ही जानकारी देता रहूँगा।

अगर आप को यह आर्टिकल पसंद आया हो तो Social Media पर शेयर कर दीजिये और कुछ सवाल हो तो कृपया Blog Comment में पूछ सकते हो हम आपको जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

Leave a Comment